Category Insights

Insights, a blog published by IMPRI.

राष्ट्रीय लॉकडाउन में लड़खड़ाती आजीविका

बलवंत सिंह मेहता और अर्जुन कुमार लॉकडाउन होने के बाद के हफ्तों में देश में केवल 285 मिलियन लोग काम कर रहे थे जबकि 404 मिलियन लोग महामारी फैलने से पहले कार्यरत थे। विश्व स्तर पर कोरोनवायरस के फैलने से 25 मिलियन से अधिक नौकरियों को खतरा होगा अंतर्राष्ट्रीय श्रम संगठन (ILO) का अनुमान है कि 3.3 बिलियन के वैश्विक कार्यबल में पांच में से चार लोग (81 प्रतिशत) वर्तमान में पूर्ण या आंशिक कार्यस्थल बंद होने से प्रभावित हैं।…

दिल्ली से प्रवासी श्रमिको का पलायन और संकट की स्थिति में डेटा की कमी

पूजा कुमारी कोविड -19 महामारी के कारण राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन की घोषणा के बाद दिल्ली से प्रवासी मजदूरों के बड़े पैमाने पर पलायन ने देश के सामने एक नई तस्वीर को उभारा है। COVID19 और लॉक डाउन एक-दूसरे से सुरक्षित दूरी…

#COVID-19: विकलांग और बुजुर्गों पर लॉकडाउन के विपरीत प्रभा

लेखक: डॉ अर्जुन कुमार, प्रो. मनीष प्रियदर्शी, डॉ सिमी मेहता, प्रो. बलवंत सिंह मेहता, प्रो. आईसी अवस्थी, प्रो. सौम्यदीप चट्टोपाध्याय, प्रो. शिप्रा मैत्रा, डॉ. इंदु प्रकाश सिंह, राज कुमार, रितिका गुप्ता, अंशुला मेहता, डॉ कहकशां कमाल, बैकुंठ रॉय, डॉ डॉली पाल, पूजा कुमारी पृष्ठभूमि कोरोनोवायरस रोग (COVID-19) दुनिया भर में एक महामारी के रूप में फैल रहा है, जो दुनिया को आघात पहुंचा रहा है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) और रोग नियंत्रण एवं रोकथाम केंद्र (सीडीसी), के अनुसार बुजुर्ग व्यक्तियों और खासकर…